यह संकट मानवता पर है और इस संकट को टालने के लिए सभी वर्गो को आगे आना होगा।
आज हम सभी  इस संकट काल से सबक लें, एक व्यक्ति के तौर पर व एक समाज के तौर पर एकजुट होकर मानवता की रक्षा के लिए आगे आएं, आखिर यही तो एक सभ्य समाज की पहचान होती है। जिस प्रकार पिछली बार देशभर के स्वयंसेवी संस्थाओं से लेकर गली मोहल्लों और गांवों तक में हर व्यक्ति एक योद्धा बना हुआ था, इस बार भी वही जज्…
Image
कैंसर दिवस
"खुशबू केसर की कैंसर तक ले गयी, शौक दो ग्राम सुपारी, सुपारी दे गयी"        'कैंसर’ एक ऐसा शब्द है, जिसे अपने किसी परिजन के लिए डॉक्टर के मुंह से सुनते ही परिवार के तमाम सदस्यों के पैरों तले की जमीन खिसक जाती है। दरअसल परिजनों को अपने परिवार के उस सदस्य को हमेशा के लिए खो देने का डर सत…
Image
विद्या
सब से उत्तम दान कहते जिसे वह विद्या दान है , दान देकर कुंदन सा चमकता बनता महान है I   अंधियारे को दूर करके रौशनी यह  फैलाता है, जिसके पास विद्या वह अपना सिक्का जमाता हैI   खुशहाली आती संग –संग  ज्ञान सबका बढ़ता है, जो अपनाता इसको वह आकाश को छू जाता है I   जो न समझे इसको वह पशु समान कहलाता है , वह …
Image
परिचर्चा- इस वर्ष आप कौनसा सब से महत्वपूर्ण काम करेंगे जो सार्वजनिक हित का होगा?
मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है. रचनाकार भी इसी समाज में रहता है. मनुष्य होने के नाते रचनाकार का पहला दाइत्व समाज के प्रति होता है. चुंकि रचनाकार अपने रचनाकर्म से समाज को प्रभावित करता है इसलिए हम ने यह जानने की कोशिश की है कि रचनाकार से पहले मनुष्य होने के नाते वह समाज के लिए कौनसा महत्वपूर्ण कार्य कर…
Image