सस्ती मजदूरी
रोज की भांति घनश्याम के हाथों में खाने का टिफिन नहीं था, सड़क सुनसान होने के साथ ही पूरे बाजार बंद थे | घनश्याम की पीठ में जोरदार लाठी पड़ती है, उसने पीछे मुडकर देखा ! तो वह लाठी पुलिस की लाठी थी | घनश्याम ने दोनों हाथ जोड़कर कहा मैंने कुछ नहीं किया है साहब! पुलिस वाले ने कहा तू कह रहा है कुछ नहीं …
Image
तुम और अपना गाँव
कमला चाची दरवाजे पर टुकटुकी लगाए आज सुबह से अपने परदेसी बेटे जीवन की अनवरत प्रतीक्षा कर रही थीं ,होली का दिन जो आ गया था ,मगर बेरोजगारी व गरीबी के दंश से उबरने के लिए अपनी प्यारी विधवा मां को बेसहारा छोड़ कमाई करने के लिए परदेस गया था उनका इकलौता बेटा जीवन। बेरोजगारी का डंक जीवन को काम की तलाश में …
Image
होली का चमत्कार।
शर्मा जी का परिवार और सिंह साहब का परिवार एक दूसरे के कट्टर दुश्मन हो गए थे। शर्मा जी और उनके बेटे पूरे शहर में पंडिताई करते थे, लोगों के घरों में पूजा पाठ उनका नित्य कर्म था। सदाचारी और शाकाहारी परिवार, पत्नी तथा बेटी भी अत्यंत शालीन, मृदुभाषी और धर्म परायण, वहीं पड़ोसी सिंह साहब बड़े ठेकेदार, मां…
Image
कानपुर का गंगा मेला
करीब 15 साल पहले गंगा मेला के दोपहर के लगभग दो बजे बेटे के साथ उसके दादी -बाबा के घर जूही जा रही तो रास्ते मे देखा कि कई जगह लोग नाच गा रहे थे सुबह से ही लोग होली में डूबे हुए थे कुछ तो सड़को पर ही बाइक में घूम रहे थे पूरे ग्रुप के साथ जिसमे पीछे बैठे कुछ लोग पीछे की तरफ मुंह करके #ढोलक बजा  रहे थे …